Dr.Sunil Kumar

Homoeopathic physician
Naturopathy,Acupressure,yoga,Herbal & Reiki Consultant For Chronic & Incurable disease

Blog

Rajiv dixit ayurveda episode 3 part 3

Posted by Dr.Sunil Kumar on January 16, 2012 at 9:15 AM

आज आयुर्वेद की श्रंखला में हम वाग्भट्ट जी के अत्यंत महत्वपूर्ण सूत्र को हम पढेंगे --

पानी पीने की सही विधि --

1--"पानी हमेशा घूँट घूँट करके पीना चाहिए क्योंकि इससे लार का निर्माण होता है |

2--हमारे पेट में भोजन को पकाने के लिए अम्ल होते हैं और मुह में जो लार होती है वो क्षार होता है

अम्ल+क्षार =न्यूट्रल (सामान्य) पानी हो जाता है |

3--इसलिए जितना घूँट घूँट करके पानी पियेंगे क्षार बनेगा और पेट में जाकर भोजन का पाचन होगा और पेट हमारा पानी की तरह रहेगा मतलब ढीला (स्वस्थ)रहेगा |

4--लार में medicinal property होती हैं ,जो की इंटरनल healing के भी काम आती हैं |

5--पानी हमेशा शरीर के  तापमान के अनुसार पीना चाहिए यानी की न ज्यादा न ही chilled |क्योंकि ज्यादा ठंडा पानी पीने से पेट को अतिरिक्त कार्य करना पड़ता है और अंगों को कार्यशीलता (दिमाग ,ह्रदय etc.)धीरे- धीरे कम होने लगती है |

6--दिमाग का रक्त Gravity ke kaaran sabse pahle kam hone lagta hai aur aage chalkar Brain hamerege इत्यादि रोगों के होने का डर रहता है |

http://youtu.be/lmpxIuXDDNU

Categories: None

Post a Comment

Oops!

Oops, you forgot something.

Oops!

The words you entered did not match the given text. Please try again.

Already a member? Sign In

0 Comments

Recent Videos

1451 views - 0 comments
1458 views - 0 comments
1538 views - 0 comments
1756 views - 0 comments